पुलवामा हमले के बाद Indian Air Force के द्वारा किये गए Airstrike का पुख्ता सबूत

पुलवामा हमले के बाद Indian Air Force के द्वारा किये गए Airstrike का पुख्ता सबूत

mirage 2000


आज इस खबर को पढ़ने के बाद उनलोगों को यह सबूत मिल जाएगा जो कि Airstrike की सबूत मांग रहे थे। उनका कहना था कि हमे सबूत दे कि इस स्ट्राइक में कितनी पाकिस्तानी आतंकवादी की मौत हुई है। में आपको अस्पस्ट रूप से बता देना चाहता हु की इसकी सबूत सिर्फ कांग्रेसी जनता और कांग्रेसी नेता को ही चाहिए। तो चलिए जानते है आखिर क्या सबूत है।

हमलोगों को पता होगा कि 14 फरवरी 2019 को पाकिस्तानी आतंकवादी ने पुलवामा जैसी घटना को अंजाम दिया। जिसमें हमने अपने 40 से ज्यादा CRPF जवान को खो दिया। इन जवान को तो उनसे लड़ने तक का मौका नही मिला। पाकिस्तानी आतंकवाद को हमेशा की तरह छुप कर ही हमला करना आता है क्योंकि की वह बुजदिल है। कहा जा रहा था कि पाकिस्तानी ने यह हमला सर्जिकल स्ट्राइक का बदला लेने के लिए किया था। आपके जानकारी के लिए बता दु की URI हमले में हमने 18 से ज्यादा Indian Army को खोया था। उसके बाद मोदी के सरकार काल में Indian Army ने पाकिस्तान में घुस कर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। जिसमे उन्होंने कई आतंकवाद ठिकाने को नष्ट किया था।

पुलवामा हमले के बाद पूरे भारत में मानो एक आग सी लग गई और हर एक भारतीय जवान और भारत वासी इसका बदला लेने को तैयार थे। इस समय पूरा भारत एक साथ था। सब में बदले की आग लगी हुई थी। अब सरकार को भी कोई ठोस कदम लेना था। पर क्या कदम था किसी को पता नही था। 

26 फरवरी 2019 को करीब 3:30AM बजे Indian Air Force ने पाकिस्तान में घुस कर Airstrike को अंजाम दिया । सुबह होते ही पूरी दुनिया में यह न्यूज़ फेल गई। इस Airstrike में आतंकवाद के तीन ठिकानों में मिराज 2000 लड़ाकू विमान से बमबारी की गई थी। और अनुमान लगया जा रहा है कि इस हमले में कम से कम 300 से ज्यादा आतंकी ढेर हो गई। 

पर सबसे महत्वपूर्ण सवाल तो अब उठाये जा रहे है कि हमे सबूत दे। अब मैं आपको कुछ ऐसा बताने वाला हु जिससे आपको सबूत मांगने की जरूरत नही पड़ेगी।

1. Airstrike होने के बाद सबसे पहले पाकिस्तान के और से ही वह Airstrike वाला Video वायरल किया गया और कहाँ गया भारत का विमान पाकिस्तान घुस कर बम गिरा कर चले गए। और यह वीडियो सुबह हर न्यूज़ चैनल पर आपने देखा होगा। 

2. Airstrike के दूसरे दिन पाकिस्तानी लड़ाकू विमान F-16 भारत सिमा पार करके मिलेटरी बेस पर बम गिराने की कोशिश की पर Indian Air Force पूरी तरह तैयार थी और जैसा पता चला भारत के और से मिग 21 विमान को भेजा गया और मिग 21 ने F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया जिसमे हमारा मिग 21 भी छतिग्रस्त हो गया और हमारा एक विंग कमांडर LOC के उस पार जा गिरा। इसके बारे में आपको बताने की जरूरत नही की wing कंमाडर का क्या हुआ यह आपको भली भांति पता होगा कि वह सुरक्षित भारत वापस आ चुके है।

3. पाकिस्तानी वालो ने Airstrike वाले जगह की सिर्फ 2 तस्वीर वायरल की है और कहा है कि बम सही टारगेट पर नही गिरा था।

4. Airstrike के बाद पाकिस्तान की और से 35 से ज्यादा बार LOC पर सीज फायर का उलंघन किया जा चुका है।

आप सोच रहे होंगे कि आखिर सबूत कहा है। अब जो में बताने वाला ही धियान से पढ़िएगा। 

अगर Airstrike में कोई आतंकवादी नही मारा गया तो पाकिस्तानी वाले इतना ज्यादा बोखला क्यो गए थे। उस स्ट्राइक के बाद। उन्होंने F-16 विमान क्यो भेजा था। वह लगातार सीज फायर क्यो कर रहा है LOC पर। उसने सिर्फ वह दो फ़ोटो की क्यो वायरल की जहाँ दिखाया गया है यहाँ कोई नुकसान नही हुआ है। आप बताओ पाकिस्तान तो चाहता न कि हम इंडिया के पोल खोल दे और उस जगह की तस्वीर ही नही वीडियो भी पूरे न्यूज़ चैनल पर दिखाए की इंडियन एयर फोर्स ने गलत जगह बम गिरा दिया था। पर पाकिस्तान वालो ने ऐसा नही किया क्यो की वहाँ पर बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। 

आपको पता होगा कि पुलवामा हमले के बाद Indian Air Force ने पोखरण में टारगेट पर बम गिरा कर परिशिक्षण भी किया था जो कि आपने न्यूज़ चैनल पर देखा ही होगा। जब Indian Air Force यहाँ पर सटीक टारगेट पर बम गिराते हुए नजर आए तो आप कैसे कह सकते हो कि उन्होंने पाकिस्तान में घुस कर सही टारगेट पर बम नही गिराया होगा।

और में आपको बता दु की सरकार के पास वह सब सबूत होंगे पर कुछ प्रोटोकॉल के कारण वह जनता से साथ साझा नही कर सकती है। अभी जो भी कांग्रेसी नेता और जनता सबूत मांग रही है वह बस इस चुवान को लेकर। क्योकि वह सिर्फ मोदी की ही तो बात करते है। इस देश के लिए कहा सोचते है। 

अस्पष्ट रूप से यह साबित होता है कि Indian Air Force ने  वहाँ काफी ज्यादा नुकसान किया है और कई आतंकवादी को मार गिराया है। 

अगर आपके पास कोई जवाब हो जो इस संबंध में कुछ कहना चाहते हो तो कमेंट करें। इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और जनता को बताए कि चुनाव के दवाब में आकर ऐसी सवाल से ना भटके। 

Post a Comment